Gandhi Jayanti 02 October 2019 : हर वर्ष भारत में 02 अक्टूबर को गाँधी जयंती दिवस मनाया जाता हैं | अग्रेजों द्वारा बनाए गए गुलाम भारत अग्रेजों की गुलामी से जूझ रहता था तब उस समय महात्मा गाँधी ने  देश को आजादी दिलाई थी |

Gandhi Jayanti 02 October 2019

Gandhi Jayanti 02 October 2019

Image Credeted to commons.wikimedia.org

आज के दिन 02 अक्टूबर को स्कूल व कालेजों में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं | जो महात्मा गाँधी के जीवन से जुड़े कार्यक्रम होते हैं | 02 मनाने का मुख्य उद्देश्य भारत में महात्मा गाँधी को याद करना और  देश भक्ति प्रेम के लिए लोगों के अन्दर जागरूता  लाना |

उन्हें दुनियाँ में आम जनता महात्मा गाँधी के नाम से जानती थी | महात्मा गाँधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गाँधी हैं | इनका जन्म 02 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर भारत में हुआ था| जो उस समय ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा था | इनके पत्नी का नाम कस्तूरबा गाँधी था और 4 पुत्र हरिलाल,मणिलाल ,रामदास ,देवदास था |

महात्मा गांधी के पिता का नाम श्री करमचंद गांधी और माता का नाम पुतलीबाई थी जो एक धार्मिक महिला थी और उनके पिताजी पोरबंदर के दीवान थे गांधीजी के जीवन काल में उनकी माता का बहुत अधिक प्रभाव रहा है गांधी जी का विवाह 13 वर्ष की उम्र में हो गया था और उस समय उनकी पत्नी कस्तूरबा 14 वर्ष की थी |

महात्मा गाँधी भारत के राजनितिक और आध्यत्मिक नेता थे | भारत को आजादी दिलाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई | उन्होंने आजादी के लिए कई सत्याग्रह किए इनमे से 1922 में असहयोग आंदोलन की शुरुआत की और नमक सत्याग्रह 12  मार्च 1930 आरम्भ हुआ था |गाँधी के कई  प्रयासो से अग्रेजों से भारत को 15 अगस्त 1947 को को आजादी मिली | आजादी के बाद 30 जनवरी 1948 को महात्मा गाँधी की हत्या कर दी गई |

गाँधी जी के प्रयास सिर्फ स्वतंत्रता तक ही सिमित नहीं थे गाँधी जी ने सामाजिक बुराइयों का भी सामना किया यह समाजिक बुराइयाँ अस्पृश्यता,जातिवाद ,स्त्री अधीनता आदि थी | इसके अलावा , उन्होने गरीबों और जररूत मंदो की मदद के लिए भी महत्वपूर्ण प्रयास किए थे | महात्मा गाँधी के जन्म दिन पर संयुक्त राष्ट्र संघ का अंतरार्ष्ट्रीय दिवस हर साल 02 अक्टूबर को आयोजित किया जाता है |

इसे भी पढ़े :- 

शास्त्रीय गायक पंडित जसराज के नाम पर लघु ग्रह का नाम रखा गया